hindi grammar samas Archives | Hindigk50k

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution)

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution)

This site will teach you How To Learn Hindi Grammar, Hindi Vyakaran, Learn Hindi Grammar Online.

भाषा में कई शब्दों के स्थान पर एक शब्द बोल कर हम भाषा को प्रभावशाली एवं आकर्षक बनाते हैजैसे
राम बहुत सुन्दर कहानी लिखता हैअनेक शब्दों के स्थान पर हम एक ही शब्दकहानीकार का प्रयोग कर सकते है । इसी प्रकार ,अनेक शब्दों के स्थान पर एक शब्द का प्रयोग कर सकते हैयहां पर अनेक शब्दों के लिए एक शब्द के कुछ उदाहरण दिए जा रहे है : –
1. जिसमें कोई विवाद ही न हो – निर्विवाद
2. जो निन्दा के योग्य हो – निन्दनीय
3. मांस रहित भोजन- निरामिष
4. रात्रि में विचरण करने वाला- निशाचर
5. किसी विषय का पूर्ण ज्ञाता – पारंगत
6. पृथ्वी से सम्बन्धित – पार्थिव
7. रात्रि का प्रथम प्रहर- प्रदोष
8. जिसे तुरंत उचित उत्तर सूझ जाए – प्रत्युत्पन्नमति
9. मोक्ष का इच्छुक- मुमुक्षु
10. मृत्यु का इच्छुक – मुमूर्षु
11. युद्ध की इच्छा रखने वाला- युयुत्सु
12. जो विधि के अनुकूल है – वैध
13. जो बहुत बोलता हो – वाचाल
14. शरण पाने का इच्छुक – शरणार्थी
15. सौ वर्ष का समय – शताब्दी
16. शिव का उपासक – शैव
17. देवी का उपासक – शाक्त
18. समान रूप से ठंडा और गर्म -समशीतोष्ण
19. जो सदा से चला आ रहा हो– सनातन
20. समान दृष्टि से देखने वाला – समदर्शी 

21. आदि से अन्त तक- आघन्त 
22. जिसका परिहार करना सम्भव न हो – अपरिहार्य 
23. जो ग्रहण करने योग्य न हो – अग्राह्य 
24. जिसे प्राप्त न किया जा सके – अप्राप्य 
25. जिसका उपचार सम्भव न हो – असाध्य 
26. भगवान में विश्वास रखने वाला आस्तिक 
27. भगवान में विश्वास न रखने वाला – नास्तिक 
28. आशा से अधिक- आशातीत 
29. ऋषि की कही गई बात – आर्ष 
30. पैर से मस्तक तक – आपादमस्तक 
31. अत्यंत लगन एवं परिश्रम वाला – अध्यवसायी 
32. आतंक फैलाने वाला – आंतकवादी 
33. देश के बाहर से कोई वस्तु मंगाना – आयात 
34. जो तुरंत कविता बना सके- आशुकवि 
35. नीले रंग का फूल – इन्दीवर 
36. उत्तर -पूर्व का कोण – ईशान 
37. जिसके हाथ में चक्र हो – चक्रपाणि 
38. जिसके मस्तक पर चन्द्रमा हो – चन्द्रमौलि 
39. जो दूसरों के दोष खोजे – छिद्रान्वेषी 
40. जानने की इच्छा- जिज्ञासा 
41. जानने को इच्छुक – जिज्ञासु 
42. जीवित रहने की इच्छा – जिजीविषा 
43. इन्द्रियों को जीतने वाला- जितेन्द्रिय 
44. जीतने की इच्छा वाला – जिगीषु 
45. जहाँ सिक्के ढाले जाते हैं – टकसाल 
46. जो त्यागने योग्य हो – त्याज्य 
47. जिसे पार करना कठिन हो- दुस्तर 
48. जंगल की आग – दावाग्नि
49. गोद लिया हुआ पुत्र – दत्तक
50. बिना पलक झपकाए हुए – निर्निमेष 
51. जिसका जन्म नहीं होता – अजन्मा
52. पुस्तकों की समीक्षा करने वाला समीक्षक , -आलोचक
53. जिसे गिना न जा सके – अगणित
54. जो कुछ भी नहीं जानता हो -अज्ञ
55. जो बहुत थोड़ा जानता हो- अल्पज्ञ
56. जिसकी आशा न की गई हो – अप्रत्याशित
57. जो इन्द्रियों से परे हो – अगोचर
58. जो विधान के विपरीत हो – अवैधानिक
59. जो संविधान के प्रतिकूल हो – असंवैधानिक
60. जिसे भले -बुरे का ज्ञान न हो – अविवेकी
61. जिसके समान कोई दूसरा न हो – अद्वितीय
62. जिसे वाणी व्यक्त न कर सके – अनिर्वचनीय
63. जैसा पहले कभी न हुआ हो – अभूतपूर्व
64. जो व्यर्थ का व्यय करता हो – अपव्ययी
65. बहुत कम खर्च करने वाला – मितव्ययी
66. सरकारी गजट में छपी सूचना – अधिसूचना
67. जिसके पास कुछ भी न हो – अकिंचन
68. दोपहर के बाद का समय – अपराह्न
69. जिसका निवारण न हो सके – अनिवार्य
70. देहरी पर रंगों से बनाई गई चित्रकारी – अल्पना
71. जो क्षण भर में नष्ट हो जाए – क्षणभंगुर 
72. फूलों का गुच्छा – स्तवक 
73. संगीत जानने वाला -संगीतज्ञ 
74. जिसने मुकदमा दायर किया है- वादी 
75. जिसके विरुद्ध मुकदमा दायर किया है- प्रतिवादी 
76. मधुर बोलने वाला -मधुरभाषी 
77. धरती और आकाश के बीच का स्थान – अंतरिक्ष 
78. हाथी के महावत के हाथ का लोहे का हुक – अंकुश 
79. जो बुलाया न गया हो -अनाहूत 
80. सीमा का अनुचित उल्लंघन – अतिक्रमण 
81. जिस नायिका का पति परदेश चला गया हो प्रोषित- पतिका
82. जिसका पति परदेश से वापस आ गया हो आगत- पतिका 
83. जिसका पति परदेश जाने वाला हो – प्रवत्स्यत्पतिका 
84. जिसका मन दूसरी ओर हो -अन्यमनस्क 
85. संध्या और रात्रि के बीच की वेला -गोधुलि 
86. माया करने वाला -मायावी 
87. किसी टूटी – फूटी इमारत का अंश- भग्नावशेष 
88. दोपहर से पहले का समय -पूर्वाह्न 
89. कनक जैसी आभा वाला -कनकाय 
90. हृदय को विदीर्ण कर देने वाला – हृदय विदारक 
91. हाथ से कार्य करने का कौशल – हस्तलाघव 
92. अपने आप उत्पन्न होने वाला – स्त्रैण 
93. जो लौटकर आया है – प्रत्यागत 
94. जो कार्य कठिनता से हो सके – दुष्कर 
95. जो देखा न जा सके – अलक्ष्य 
96. बाएँ हाथ से तीर चला सकने वाला- सव्यसाची 
97. वह स्त्री जिसे सूर्य ने भी न देखा हो – असुर्यम्पश्या 
98. यज्ञ में आहुति देने वाला – हौदा 
99. जिसे नापना सम्भव न हो – असाध्य 
100. जिसने किसी दूसरे का स्थान अस्थाई रूप से ग्रहण किया हो – स्थानापन्न

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution)

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution)

This site will teach you How To Learn Hindi Grammar, Hindi Vyakaran, Learn Hindi Grammar Online.

भाषा की सुदृढ़ता, भावों की गम्भीरता और चुस्त शैली के लिए यह आवश्यक है कि लेखक शब्दों (पदों) के प्रयोग में संयम से काम ले, ताकि वह विस्तृत विचारों या भावों को थोड़े-से-थोड़े शब्दों में व्यक्त कर सके। समास, तद्धित और कृदन्त वाक्यांश या वाक्य एक शब्द या पद के रूप में संक्षिप्त किये जा सकते है। ऐसी हालत में मूल वाक्यांश या वाक्य के शब्दों के अनुसार ही एक शब्द या पद का निर्माण होना चाहिए।

Read moreअनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word Substitution)

हिंदी का सामान्य ज्ञान (General Knowledge Of Hindi)

hindi vyakaran book ncert,hindi grammar lessons,hindi grammar exercises,hindi vyakaran class 10,hindi grammar rules,hindi vyakaran class 9,hindi grammar samas,hindi vyakaran sangya, lucent hindi grammar book free download,general hindi grammar for competitive exams,hindi grammar notes for competitive exams pdf,hindi grammar pdf class 10, hindi grammar for competitive exams pdf free download,hindi grammar notes in hindi language,hindi grammar notes pdf download,hindi vyakaran book for competition pdf,

हिंदी का सामान्य ज्ञान (General Knowledge Of Hindi)

This site will teach you How To Learn Hindi Grammar, Hindi Vyakaran, Learn Hindi Grammar Online.

हिंदी का सामान्य ज्ञान (General Knowledge Of Hindi)

हिंदी के प्रसिद्ध कविचंदवरदाई, कबीर, जायसी, तुलसीदास, सूरदास, नंददास, मीराबाई, रहीम, बिहारी, देव, मतिराम, पद्याकर, भूषण, भारतेंदु हरिशचन्द्र, जगन्नाथ दास, ‘रत्नाकर’, मैथलीशरण गुप्त, अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’, माखनलाल चतुर्वेदी, जयशंकर प्रसाद, सुमित्रानन्दन पंत, सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’, महादेवी वर्मा, सुभद्राकुमारी चौहान, रामधारी सिंह ‘दिनकर’, सोहनलाल द्विवेदी, हरिवंश राय ‘बच्चन’, गोपाल सिंह ‘नेपाली’, स० हि० वा० अज्ञेय, श्यामनारायण पांडेय, शिवमंगल सिंह ‘सुमन’, रामेश्र्वर शुक्ल ‘अंचल’, जानकीवल्लभ शास्त्री, भवानीप्रसाद मिश्र, रघुवर सहाय, गजानन माधव मुक्तिबोध, मोहनलाल महतो ‘वियोगी’, केदारनाथ मिश्र ‘प्रभात’, बालकृष्ण शर्मा ‘नवीन’, रामदयाल पांडेय।

Read moreहिंदी का सामान्य ज्ञान (General Knowledge Of Hindi)

सर्वनाम (Pronoun)

hindi vyakaran book ncert,hindi grammar lessons,hindi grammar exercises,hindi vyakaran class 10,hindi grammar rules,hindi vyakaran class 9,hindi grammar samas,hindi vyakaran sangya, lucent hindi grammar book free download,general hindi grammar for competitive exams,hindi grammar notes for competitive exams pdf,hindi grammar pdf class 10, hindi grammar for competitive exams pdf free download,hindi grammar notes in hindi language,hindi grammar notes pdf download,hindi vyakaran book for competition pdf,

सर्वनाम (Pronoun)

This site will teach you How To Learn Hindi Grammar, Hindi Vyakaran, Learn Hindi Grammar Online.

सर्वनाम (Pronoun) की परिभाषा

जिन शब्दों का प्रयोग संज्ञा के स्थान पर किया जाता है, उन्हें सर्वनाम कहते है।
दूसरे शब्दों में-सर्वनाम उस विकारी शब्द को कहते है, जो पूर्वापरसंबध से किसी भी संज्ञा के बदले आता है।
जैसे- मै, तू, वह, आप, कोई, यह, ये, वे, उसका इत्यादि।

Read moreसर्वनाम (Pronoun)

Samas (Compound) (समास)

hindi vyakaran book ncert,hindi grammar lessons,hindi grammar exercises,hindi vyakaran class 10,hindi grammar rules,hindi vyakaran class 9,hindi grammar samas,hindi vyakaran sangya, lucent hindi grammar book free download,general hindi grammar for competitive exams,hindi grammar notes for competitive exams pdf,hindi grammar pdf class 10, hindi grammar for competitive exams pdf free download,hindi grammar notes in hindi language,hindi grammar notes pdf download,hindi vyakaran book for competition pdf,

Samas(Compound)(समास)

This site will teach you How To Learn Hindi Grammar, Hindi Vyakaran, Learn Hindi Grammar Online.

Samas(Compound)(समास)

समास(Compound) की परिभाषा-

दो या अधिक शब्दों (पदों) का परस्पर संबद्ध बतानेवाले शब्दों अथवा प्रत्ययों का लोप होने पर उन दो या अधिक शब्दों से जो एक स्वतन्त शब्द बनता है, उस शब्द को सामासिक शब्द कहते है और उन दो या अधिक शब्दों का जो संयोग होता है, वह समास कहलाता है।

दूसरे अर्थ में- कम-से-कम शब्दों में अधिक-से-अधिक अर्थ प्रकट करना ‘समास’ कहलाता है।

Read moreSamas (Compound) (समास)

Sandhi (Seam) (संधि)

Sandhi (Seam) (संधि)

This site will teach you How To Learn Hindi Grammar, Hindi Vyakaran, Learn Hindi Grammar Online.

संधि (Seam )की परिभाषा

दो वर्णों ( स्वर या व्यंजन ) के मेल से होने वाले विकार को संधि कहते हैं।

दूसरे अर्थ में- संधि का सामान्य अर्थ है मेल। इसमें दो अक्षर मिलने से तीसरे शब्द रचना होती है,
इसी को संधि कहते हैै।

Read moreSandhi (Seam) (संधि)

(Sandhi vichchhed)- संधि विच्छेद

hindi vyakaran book ncert,hindi grammar lessons,hindi grammar exercises,hindi vyakaran class 10,hindi grammar rules,hindi vyakaran class 9,hindi grammar samas,hindi vyakaran sangya, lucent hindi grammar book free download,general hindi grammar for competitive exams,hindi grammar notes for competitive exams pdf,hindi grammar pdf class 10, hindi grammar for competitive exams pdf free download,hindi grammar notes in hindi language,hindi grammar notes pdf download,hindi vyakaran book for competition pdf,

(Sandhi vichchhed)- संधि विच्छेद

This site will teach you How To Learn Hindi Grammar, Hindi Vyakaran, Learn Hindi Grammar Online.

संधि विच्छेद की परिभाषा –

संधि में पदों को मूल रूप में पृथक कर देना संधि विच्छेद हैैै। जैसे- धनादेश = धन + आदेश

यहाँ पर कुछ प्रचलित संधि विच्छेदों को दिया जा रहा है, जो की विद्यार्थियों के बड़े काम आएगी।

Read more(Sandhi vichchhed)- संधि विच्छेद

Sangya (Noun) (संज्ञा)

hindi vyakaran book ncert,hindi grammar lessons,hindi grammar exercises,hindi vyakaran class 10,hindi grammar rules,hindi vyakaran class 9,hindi grammar samas,hindi vyakaran sangya, lucent hindi grammar book free download,general hindi grammar for competitive exams,hindi grammar notes for competitive exams pdf,hindi grammar pdf class 10, hindi grammar for competitive exams pdf free download,hindi grammar notes in hindi language,hindi grammar notes pdf download,hindi vyakaran book for competition pdf,

Sangya (Noun) (संज्ञा)

This site will teach you How To Learn Hindi Grammar, Hindi Vyakaran, Learn Hindi Grammar Online.

संज्ञा(Noun)की परिभाषा

संज्ञा उस विकारी शब्द को कहते है, जिससे किसी विशेष वस्तु, भाव और जीव के नाम का बोध हो, उसे संज्ञा कहते है।
दूसरे शब्दों में- किसी प्राणी, वस्तु, स्थान, गुण या भाव के नाम को संज्ञा कहते है।

Read moreSangya (Noun) (संज्ञा)

शब्दों की अशुद्धियाँ (Shbdo ki ashudhiya)

hindi vyakaran book ncert,hindi grammar lessons,hindi grammar exercises,hindi vyakaran class 10,hindi grammar rules,hindi vyakaran class 9,hindi grammar samas,hindi vyakaran sangya, lucent hindi grammar book free download,general hindi grammar for competitive exams,hindi grammar notes for competitive exams pdf,hindi grammar pdf class 10, hindi grammar for competitive exams pdf free download,hindi grammar notes in hindi language,hindi grammar notes pdf download,hindi vyakaran book for competition pdf,

शब्दों की अशुद्धियाँ (Shbdo ki ashudhiya)

This site will teach you How To Learn Hindi Grammar, Hindi Vyakaran, Learn Hindi Grammar Online.

शब्दों की अशुद्धियाँ (Shbdo ki ashudhiya)

व्याकरण के सामान्य नियमों की ठीक -ठीक जानकारी न होने के कारण विद्यार्थी से बोलने और लिखने में प्रायः भद्दी भूलें हो जाया करती हैं। शुद्ध भाषा के प्रयोग के लिए वर्णों के शुद्ध उच्चारण, शब्दों के शुद्ध रूप और वाक्यों के शुद्ध रूप जानना आवश्यक हैं।

Read moreशब्दों की अशुद्धियाँ (Shbdo ki ashudhiya)

Visheshan (Adjective) (विशेषण)

hindi vyakaran book ncert,hindi grammar lessons,hindi grammar exercises,hindi vyakaran class 10,hindi grammar rules,hindi vyakaran class 9,hindi grammar samas,hindi vyakaran sangya, lucent hindi grammar book free download,general hindi grammar for competitive exams,hindi grammar notes for competitive exams pdf,hindi grammar pdf class 10, hindi grammar for competitive exams pdf free download,hindi grammar notes in hindi language,hindi grammar notes pdf download,hindi vyakaran book for competition pdf,

Visheshan (Adjective) (विशेषण)

This site will teach you How To Learn Hindi Grammar, Hindi Vyakaran, Learn Hindi Grammar Online.

 

विशेषण(Adjective)की परिभाषा

जो शब्द संज्ञा या सर्वनाम शब्द की विशेषता बताते है उन्हें विशेषण कहते है।
इसे हम ऐसे भी कह सकते है- जो किसी संज्ञा की विशेषता (गुण, धर्म आदि )बताये उसे विशेषण कहते है।

दूसरे शब्दों में- विशेषण एक ऐसा विकारी शब्द है, जो हर हालत में संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बताता है।

Read moreVisheshan (Adjective) (विशेषण)

error: