APJ Abdul Kalam Wet Grinder Hindi Story

APJ Abdul Kalam Wet Grinder Hindi Story | short bal kahani in hindi, baccho ki kahani suno, dadi maa ki kahaniyan, bal kahaniyan, cinderella ki kahani, hindi panchatantra stories, baccho ki kahaniya aur cartoon, stories, kids story in english, moral stories, kids story books, stories for kids with pictures, short story, short stories for kids, story for kids with  moral, moral stories for childrens in hindi, infobells hindi moral stories, hindi panchatantra stories, moral stories in hindi,  story in hindi for class 1, hindi story books, story in hindi for class 4, story in hindi for class 6, panchtantra ki kahaniya.

APJ Abdul Kalam Wet Grinder Hindi Story 

Dr APJ Abdul Kalam को कौन नहीं जानता. वह हमारे देश के राष्ट्रपति थे. कई लोग उनके बारे में यह बोलते हैं कि उनको हमेशा overrate किया गया यानि वो जितना थे उससे कई गुना बढ़ा चढ़ाकर उनके बारे में कहा गया, और लिखा गया. मैं यहाँ पर उनके बारे में एक छोटी सी बात शेयर करना चाहता हूँ जो उनकी महानता को दिखाता है.

APJ Abdul Kalam Wet Grinder Hindi Story

यह एक सच्ची घटना है जो 2014  में घटी थी.

जैसा कि आपको पता होगा कि राष्ट्रपति पद का कार्यकाल पूरा होने के बाद Dr APJ Abdul Kalam देश भर में स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी, कॉर्पोरेट जगत के कार्यकर्मों में भाग लेते रहते थे. ऐसे ही एक कार्यक्रम के दौरान उनकी मृत्यु भी हो गयी थी और देश ने एक महान विभूति को खो दिया.

इरोड में एक फर्म है – सौभाग्य इंटरप्राइजेज. यह फर्म wet grinder यानि गीली चक्की बनाने के लिये प्रसिद्द है. Wet grinder का उपयोग रसोई के कार्यों में होता है. इसी फर्म द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में Dr APJ Abdul Kalam को आमंत्रित किया गया. वे उस कार्यक्रम में भाग लेने गए.

APJ Abdul Kalam Wet Grinder Hindi Story

उस कार्यक्रम की समाप्ति के दिन सौभाग्य इंटरप्राइजेज ने उनको एक wet grinder उपहार स्वरुप दिया. ऐसे Dr APJ Abdul Kalam भी अपने घर में उपयोग के लिये एक wet grinder लेने की सोच रहे थे. अब्दुल कलाम साहब ने उस wet grinder को उपहार के रूप में लेना अस्वीकार कर दिया. उन्होंने उसके लिये एक 4850 रूपये का चेक काटकर उस कंपनी के अधिकारी को दे दिया.

कंपनी और कंपनी के प्रबंध निदेशक कलाम साहब के इस व्यवहार से बहुत प्रभावित हुए और अपने आपको गौरवान्वित महसूस करने लगे. उन लोगों ने उस चेक को भुनाने की बजाय फ्रेम करके अपने कार्यालय में दीवार पर सम्मानपूर्वक लगवा दिया.

दो महीने बाद, उन लोगों को Dr APJ Abdul Kalam के ऑफिस से फ़ोन आया कि उस 4850 रूपये के चेक को बैंक में जमाकर उसे clear करा लें. यदि वे लोग ऐसा नहीं करते हैं तो उनका wet grinder वापस कर दिया जाएगा.

कोई अन्य विकल्प नहीं देख सौभाग्य इंटरप्राइजेज के प्रबंध निदेशक ने उस चेक का फोटो कॉपी करा लिया. उस फोटो कॉपी को फ्रेम कराकर अपने ऑफिस में लगवा दिया और कलाम साहब वाला चेक बैंक में क्लीयरेंस के लिये भेज दिया.

ऐसे थे हमारे कलाम साहब

बात तो बहुत छोटी है और साधारण सी जान पड़ती है. लेकिन यदि इस पर विचार किया जाय तो इससे कलाम साहब की छोटी छोटी चीजों के बारे में जानकारी रखना और उसका पालन करना स्पष्ट दीखता है. यही छोटी छोटी बातें लोगों को महान बनाती हैं.

वाकई कलाम साहब एक विनम्र इंसान थे, जिन्होंने देश और मानवता के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया। सन्दर्भ के लिये उस चेक का चित्र भी दिया जा रहा है, यह चित्र इन्टरनेट से लिया गया है.

APJ Abdul Kalam Wet Grinder Hindi Story

 

आपको यह हिंदी कहानी कैसी लगी, अपने विचार कमेंट द्वारा दें. धन्यवाद!

Comments

comments

Leave a Comment

error: