राजस्थान एक परिचय विषय सूची Rajasthan-Gk Introduction of Rajasthan | Hindigk50k

राजस्थान एक परिचय विषय सूची Rajasthan-Gk Introduction of Rajasthan

राजस्थान एक परिचय विषय सूची Rajasthan-Gk Introduction of Rajasthan Here we are providing Rajasthan gk in hindi for upcoming exams in rajasthan. rajasthan gk questions with answers in hindi, rajasthan gk hindi, rajasthan gk notes in hindi.

 Rajasthan Districts wise General Knowledge

1. अजमेर  6. भरतपुर  11. चित्तौड़गढ़  16. हनुमानगढ़  21. झुंझुनूं  26. पाली  31. सिरोही 
2. अलवर  7. भीलवाड़ा 12. दौसा  17. जयपुर  22. जोधपुर  27. प्रतापगढ़  32. टोंक
3. बांसवाड़ा  8. बीकानेर  13. धौलपुर  18. जैसलमेर  23. करौली  28. राजसमंद  33. उदयपुर 
4. बारां  9. बूंदी  14. डूंगरपुर  19. जालोर  24. कोटा  29. सवाई माधोपुर 
5. बाड़मेर  10. चुरू  15. गंगानगर  20. झालावाड़  25. नागौर  30. सीकर 

राजस्थान एक परिचय विषय सूची Rajasthan-Gk Introduction of Rajasthan

 

राजस्थान(Rajasthan) क्षेत्रफल की दृष्टि से हमारे देश का सबसे बड़ा राज्य है। राजस्थान(Rajasthan) देश के उत्तर पश्चिम में स्थित है। छठी सताब्दी के बाद राजस्थानी भू भाग में राजपूत(Rajput) राज्यों का उदय प्रारंभ हुआ । राजपूत(Rajput) राज्यों की प्रधानता के कारण इसे राजपुताना(Rajpuatana) कहा जाने लगा । वाल्मीकि ने राजस्थान(Rajasthan) प्रदेश को ‘मरुकांतर’(Marukantar) कहा है। राजस्थान(Rajasthan) शब्द का प्राचीनतम उपयोग ‘राजस्थानियादित्य’ वि संवत 682 में उत्कीर्ण वसंतगढ़ (सिरोही ) के शिलालेख में मिलता है । उसके बाद मुहणोत(Muhannot) नैणसी की ख्यात(Muhnot Nainsi Ki Khyat) व राजरूपक(Raajroopak) में राजस्थान(Rajasthan) शब्द का प्रयोग हुआ है , परन्तु इस भाग के लिए राजपूताना(RajPutana) शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग 1800 ईसवी में जॉर्ज(George) थॉमस द्वारा किया गया था । कर्नल जेम्स(Gems) टॉड (Political agent o f west and middle Rajput States of India) ने इस राज्य को “रायथान” कहा क्योंकि स्थानीय साहित्य एवं बोलचाल में राजाओं के निवास के प्रान्त को ‘रायथान’ (raythan) कहते थे। उन्होंने 1829 ईसवी में लिखित अपनी प्रसिद्ध पुस्तक “Annals and antiquities of Rajas’Than( or central and Western Rajpoot States of India) में सर्वप्रथम इस भौगोलिक भाग के लिए राजस्थान(Rajasthan) शब्द का प्रयोग किया । स्वतंत्रता के पश्चात 26 जनवरी 1950 को ओपचारिक रूप से इस प्रदेश का नाम राजस्थान(Rajasthan) स्वीकार किया गया । राजस्थान(Rajasthan) अपने वर्तमान स्वरुप में 1 नवम्बर 1956 को आया। इससे पुर्व राजस्थान(Rajasthan) निर्माण के विभिन्न चरणों से गुजरा ।

राजस्थान का सामान्य परिचय

राजस्थान का कुल क्षेत्रफल 3,42,239 वर्गकि.मी. है। जो कि देश का 10.41प्रतिशत है और क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का देश में प्रथम स्थानहै।
1 नवम्बर 2000 को मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ का गठन हुआ और उसी दिन से राजस्थान देश का प्रथम राज्य बना।
2011 में राजस्थान की कुल जनसंख्या 6,85,48,437 थी जो की देश की जनसंख्या का 5.66 प्रतिशत है।
2001 में राजस्थान की कुल जनसंख्या 5.65 करोड थी जो की देश की जनसंख्या का 5.65  प्रतिशत है।
राजस्थान की जनसंख्या  विश्व की जनसंख्या का 1 प्रतिशत है।
सर्वाधिक  जनसंख्या ;- जयपुर, जोधपुर, अलवर, नागौर
न्यूनतम  जनसंख्या वाले जिले :- जेसलमेर, प्रतापगढ़, सिरोही, बूंदी

राजस्थान की स्थिति, विस्तार, आकृति, एवं भौतिक स्वरूप

भुमध्य रेखा के सापेक्ष राजस्थान उतरी गोलाद्र्व में स्थित है।
ग्रीन वीच रेखा के सापेक्ष राजस्थान पुर्वी गोलाद्र्व में स्थित है।
ग्रीन वीच व भुमध्य रेखा दोनों के सापेक्ष राजस्थान उतरी पूर्वी गोलाद्र्व में स्थित है।
कर्क रेखा अर्थात 23  30′ अक्षांश राज्य के दक्षिण में बांसवाड़ा-डुंगरपुर जिलों से गुजरती है। बांसवाड़ा शहर कर्क रेखा से राज्य का सर्वाधिक नजदीक शहर है।
विस्तारः- उत्तर से दक्षिण तक लम्बाई 826 कि. मी. व विस्तार उत्तर में कोणा गाँव (गंगानगर) से दक्षिण में बोरकुण्ड गाँव(कुशलगढ़, बांसवाड़ा) तक है।
पुर्व से पश्चिम तक चैड़ाई 869 कि. मी. व विस्तार पुर्व में सिलाना गाँव(राजाखेड़ा, धौलपुर) से पश्चिम में कटरा(फतेहगढ़,सम, जैसलमेर) तक है।
राजस्थान का अक्षांशीय अंतराल – 79′
राजस्थान का देशान्तरीय अंतराल – 847′

आकृति

30+ E-books on Rajasthan Geography History GK pdf Download

विषम कोणीय चतुर्भुज या पतंग के समान।

स्थलीय सीमा

5920 कि.मी.(1070 अन्तराष्ट्रीय व 4850 अन्तराज्जीय)।

रेडक्लिफ रेखा

रेडक्लिफ रेखा भारत और पाकिस्तान के मध्य स्थित है। इसके संस्थापक सर सिरिल एम रेडक्लिफ को माना जाता है। इसकी स्थापना 14/15 अगस्त, 1947 को की गयी। इसकी भारत के साथ कुल सीमा 3310 कि.मी. है।
रेडक्लिफ रेखा पर भारत के चार राज्य स्थित है।
  1. जम्मू-कश्मीर(1216 कि.मी.)
  2. पंजाब(547 कि.मी.)
  3. राजस्थान(1070 कि.मी.)
  4. गुजरात(512 कि.मी.)
A रेडक्लिफ रेखा के साथ सर्वाधिक सीमा- राजस्थान(1070 कि.मी.)
B रेडक्लिफ रेखा के साथ सबसे कम सीमा- गुजरात(512 कि.मी.)
C रेडक्लिफ रेखा के सर्वाधिक नजदीक राजधानी मुख्यालय- श्री नगर
D रेडक्लिफ रेखा के सर्वाधिक दुर राजधानी मुख्यालय- जयपुर
E रेडक्लिफ रेखा पर क्षेत्र में बड़ा राज्य- राजस्थान
F रेडक्लिफ रेखा पर क्षेत्र में सबसे छोटा राज्य- पंजाब
G रेडक्लिफ रेखा के साथ राजस्थान की कुल सीमा 1070 कि.मी. है। जो राजस्थान के चार जिलों से लगती है।
  1. श्री गंगानगर- 210 कि.मी.
  2. बीकानेर- 168 कि.मी.
  3. जैसलमेर- 464 कि.मी.
  4. बाड़मेर- 228 कि.मी.

    30+ E-books on Rajasthan Geography History GK pdf Download

रेडक्लिफ रेखा राज्य में उत्तर में गंगानगर के हिंदुमल कोट से लेकर दक्षिण में बाड़मेर के शाहगढ़ बाखासर गाँव तक विस्तृत है।
रेडक्लिफ रेखा पर पाकिस्तान के 9 जिले पंजाब प्रान्त का बहावलपुर, बहावलनगर व रहीमयार खान तथा सिंध प्रान्त के घोटकी, सुक्कुर, खेरपुर, संघर, उमरकोट व थारपाकर राजस्थान से सीमा बनाते हैं।
राजस्थान के साथ सर्वाधिक सीमा- बहावलपुर
राजस्थान के साथ न्युनतम सीमा- खैरपुर
पाकिस्तान के दो राज्य(प्रांत) राजस्थान से छुते हैं।
  1. पंजाब प्रांत
  2. सिंध प्रांत
A रेडक्लिफ रेखा एक कृत्रिम रेखा है।
B राजस्थान से सर्वाधिक सीमा जैसलमेर(464 कि.मी.) व न्युनतम सीमा बीकानेर(168 कि.मी.) की रेडक्लिफ C रेखा से लगती है।
D रेडक्लिफ के नजदीक जिला मुख्यालय- श्री गंगानगर
E रेडक्लिफ के सर्वाधिक दुर जिला मुख्यालय- बीकानेर
F रेडक्लिफ पर क्षेत्रफल में बड़ा जिला- जैसलमेर
G रेडक्लिफ रेखा पर क्षेत्रफल में छोटा जिला- श्री गंगानगर
H राजस्थान के केवल अन्तराष्ट्रीय सीमा वाले जिले- 2(बीकानेर, जैसलमेर)
I राजस्थान के परिधिय जिले – 25
J राजस्थान के अन्तर्राज्जीय सीमा वाले जिले – 23
K राजस्थान के केवल अन्तर्राज्जीय सीमा वाले जिले – 21
L राजस्थान के 2 ऐसे जिले है जिनकी अन्तर्राज्जीय एवं अन्तराष्ट्रीय सीमा है- गंगानगर(पाकिस्तान + M पंजाब), बाड़मेर(पाकिस्तान+ गुजरात)
N राजस्थान के 4 जिले ऐसे है जिनकी सीमा दो – दो राज्यों से लगती है-
  • हनुमानगढ़:- पंजाब + हरियाणा
  • भरतपुर:- हरियाणा + उतरप्रदेश
  • धौलपुर:- उतरप्रदेश + मध्यप्रदेश
  • बांसवाड़ा:- मध्यप्रेदश + गुजरात

नोट:-

राज्स्थान में सबसे पहले सूर्य उदय धौलपुर जिले के सिलाना गाव में होता है। राजस्थान में सबसे बाद में सूर्यउदय जैसलमेर जिले के कटरा गाव में होता है और यही पर सबसे बाद में सूर्यस्त होता है।
राजस्थान में कर्क रेखा बासवाडा जिले के कुषलगढ़ तहसील से होकर गुजरती है। अतः बांसवाडा जिले में सूर्य की किरणे सर्वाधिक सीधी पड़ती है। जबकी श्री गंगानगर जिला कर्क रेखा से सर्वाधिक दूरी पर स्थित है अतः श्री गंगानगर जिले में सूर्य की किरणे सर्वाधिक तिरछी पडती है।

                                                  कर्क रेखा

23 30′ उतरी अक्षाश को कर्क रेखा कहते है। कर्क रेखा भारत के आठ राज्यों से होकर गुजरती है – 1. गुजरात 2. राजस्थान 3. मध्यप्रदेश 4. छत्तीसगढ़ 5. झारखण्ड 6. पश्चिम बंगाल 7. त्रिपुरा 8. मिजोरम
कर्क रेखा राजस्थान के बांसवाड़ा के मध्य से होकर गुजरती है। डूंगरपूर जिले को स्पर्श करती है।
राजस्थान:-राजस्थान शब्द का पहला उल्लेख 7 वी. सदी के बसंन्तगढ़ के लेख में हुआ है। बसंन्तगढ़ लेख सिरोही में है। जबकि मारवाड इतिहास के लेखक मुहणौत नैणसी ने भी अपनी पुस्तक “नैणर्स री ख्यात” में “राजस्थान” शब्द का प्रयोग किया और 19 वी. सदी में कर्नल जम्स टाड ने अपनी पुस्तक “एनाल्स एंड एटीक्विटिज ऑफ राजस्थान” मे राजस्थान षब्द का प्रयोग किया। इस पुस्तक का दूसरा नाम “सैण्ट्रल एंड वेस्टर्न स्टेट्स ऑफ इंडिया” है।
इस पुस्तक का पहली बार हिन्दी अनुवाद राजस्थान के प्रसिद्ध इतिहासकार गोरीषंकर- हीराचंद ओझा ने किया। इसे हिन्दी में “प्राचीन राजस्थान का विश्लेषण” कहते है।कर्नल जेम्स टोड 1818-1821 के मध्य मेवाड़ (उदयपुर) प्रांत में पोलिटिकल ऐजेन्ट थे। उन्होने अपने घोडे़ पर बैठकर घूम-घूम कर इतिहास लेखन किया अतः कर्नल जम्स टोड को “घोडे वाला बाबा” के नाम से भी जाना जाता है।

जार्ज थामस

30+ E-books on Rajasthan Geography History GK pdf Download

कर्नल जेम्स टोड से पूर्व सन् 1800 ई.में “जार्ज थामस” ने राजस्थान के लिए “राजपुताना” की संज्ञा दी। इस बात का उल्लेख विलियम फ्रेंकलिन की पुस्तक “मिलिट्री मेमोयरी” में आता है।

राजस्थान का सांस्कृतिक विभाजन

  1. मेवाड़ – उदयपुर, राजसंमद, भीलवाडा, चितौड़गढ़, प्रतापगढ़
  2. मारवाड़ -जोधपुर, नागौर, पाली, बीकानेर, जैसलमेर, बाडमेर
  3. दुंढाड़ – जयपुर, दौसा, टोंक व अजमेर का भाग
  4. हाडौती – कोटा , बूंदी, बांरा, झालावाड़
  5. शेखावाटी – चुरू, सीकर, झुन्झुनू
  6. मेवात – अलवर, भरतपुर
  7. बागड़ – डंूगरपुर, बांसवाडा

महत्वपूर्ण प्रश्न

1 राजस्‍थान का प्रवेश द्वार किसे कहा जाता है – भरतपुर
2 महुआ के पेङ पाये जाते है – अदयपुर व चितैङगढ
3 राजस्‍थान में छप्‍पनिया अकाल किस वर्ष पङा – 1956 वि स
4 राजस्‍थान में मानसून वर्षा किस दिशा मे बढती है – दक्षिण पश्चिम से उत्‍तर पूर्व
5 राजस्‍थान में गुरू शिखर चोटी की उचाई कितनी है – 1722 मीटर
6 राजस्‍थान में किस शहर को सन सिटी के नाम से जाना जाता है – जोधपुर को
7 राजस्‍थान की आकति है – विषमकोण चतुर्भुज
8 राजस्‍थान के किस जिले का क्षेत्रफल सबसे ज्‍यादा है – जैसलमेर
9 राज्‍य की कुल स्‍थलीय सीमा की लम्‍बाई है – 5920 किमी
10 राजस्‍थान का सबसे पूर्वी जिला है – धौलपुर
11 राजस्‍थान का सागवान कौनसा वक्ष कहलाता है – रोहिङा
12 राजस्‍थान के किसा क्षेत्र में सागौन के वन पाये जाते है – दक्षिणी
13 जून माह में सूर्य किस जिले में लम्‍बत चमकता है – बॉसवाङा
14 राजस्‍थान में पूर्ण मरूस्‍थल वाले जिलें हैं – जैसलमेर, बाडमेर
15 राजस्‍‍थान के कौनसे भाग में सर्वाधिक वर्षा होती है – दक्षिणी-पूर्वी
16 राजस्‍थान में सर्वाधिक तहसीलोंकी संख्‍या किस जिले में है – जयपुर
17 राजस्‍थान में सर्वप्रथम सूर्योदय किस जिले में होता है – धौलपुर
18 उङिया पठार किस जिले में स्थित है – सिरोही
19 राजस्‍थान में किन वनोंका अभाव है – शंकुधारी वन
20 राजस्‍थान के क्षेत्रफल का कितना भू-भाग रेगिस्‍तानी है – लगभग दो-तिहाई
21 राजस्‍थान के पश्चिम भाग में पाये जाने वाला सर्वाधिक विषैला सर्प – पीवणा सर्प
22 राजस्‍थान के पूर्णतया वनस्‍पतिरहित क्षेत्र – समगॉव (जैसलमेर)
23 राजस्‍थान के किस जिले में सूर्यकिरणों का तिरछापन सर्वाधिक होता है – श्रीगंगानगर
24 राजस्‍थान का क्षेतफल इजरायल से कितना गुना है – 17 गुना बङा है
25 राजस्‍थान की 1070 किमी लम्‍बी पाकिस्‍तान से लगीसिमा रेखा का नाम – रेडक्लिफ रेखा
26 कर्क रेखा राजस्‍थान केकिस जिले से छूती हुई गुजरती है – डूंगरपुर व बॉसवाङा से होकर
27 राजस्‍थान में जनसंख्‍या की द़ष्टि से सबसे बङा जिला – जयपुर
28 थार के रेगिस्‍तान के कुल क्षेत्रफल का कितना प्रतिशत राजस्‍थान में है – 58 प्रतिशत
29 राजस्‍थान के रेगिस्‍तान में रेत के विशाल लहरदार टीले को क्‍या कहते है – धोरे
30 राजस्‍थान का एकमात्र जीवाश्‍म पार्क स्थित है – आकलगॉव {जैसलमेर}

 

राजस्थान(Rajasthan) निर्माण के विभिन्न चरण

30+ E-books on Rajasthan Geography History GK pdf Download

1. प्रथम चरण – नाम मतस्य संघ – तिथि 18 मार्च 1948
शामिल होने वाली रियासतें – अलवर , भरतपुर(Bharatpur) , धोलपुर , करौली(Karauli) रियासत व नीमराना ठिकाना.

2. द्वितीय चरण – नाम राजस्थान(Rajasthan) संघ – तिथि 25 मार्च 1948
शामिल होने वाली रियासतें – बाँसवाड़ा , बूंदी(Bundi) , डूंगरपुर , झालावाड़ , कोटा , प्रतापगढ़(Prataapgarh) , टोंक किशनगढ़ तथा शाहपुरा(ShahPura) रियासतें व कुशलगढ़ ठिकाना. प्रदेश के नाम में राजस्थान(Rajasthan) शब्द पहली बार जुड़ा.
3. तृतीय चरण – नाम संयुक्त राजस्थान(Rajasthan) – तिथि 18 अप्रैल(April) 1948
शामिल होने वाली रियासतें – उदयपुर(Udaipur)
4. चतुर्थ चरण – नाम वृहत राजस्थान(Rajasthan) – तिथि 30 मार्च 1949
शामिल होने वाली रियासतें –संयुक्त राजस्थान(Rajasthan) + जयपुर(Jaipur) , जोधपुर(Jodhpur) , बीकानेर(Bikaner) व जैसलमेर(Jaisalmer)
5. पंचम चरण – नाम संयुक्त वृहत्तर राजस्थान(Rajasthan) – तिथि 15 मई 1949
शामिल होने वाली रियासतें – वृहत्त राजस्थान(Rajasthan) व मतस्य संघ का विलय हुआ.
6. षष्ठम चरण – नाम राजस्थान(Rajasthan) (संघ) – तिथि जनवरी 1950
शामिल होने वाली रियासतें – संयुक्त वृहत्तर राजस्थान(Rajasthan) में सिरोही(Sirohi) (आबू व दिलवाडा तहसील को छोड़कर ) रियासत का विलय हुआ
7. सप्तम चरण – नाम(वर्तमान स्वरुप में राजस्थान) – तिथि 1 नवम्बर 1956 शामिल होने वाली रियासतें –राजस्थान संघ + अजमेर-मेरवाड़ा + आबू , दिलवाड़ा तहसील व मध्य प्रदेश का सुनेल टप्पा. राज्य के सिरोंज को मध्य प्रदेश में मिलाया गया.

30+ E-books on Rajasthan Geography History GK pdf Download

 

राजस्थान के शहरों के प्राचीन नाम

“प्राचीन नाम – वर्तमान नाम
अजयमेरु – अजमेर(Ajmer)
कोंकण तीर्थ – पुष्कर(Pushkar)
श्रीपंथ – बयाना(Bayana)
सत्यपुर – सांचोर(Sanchore)
विराट – बैराठ
अहिछत्रपुर – नागोर
कोठी – धौलपुर(Dholpur)
मध्यमिका – नगरी
उपकेश पट्टन – ओसियां(Osiyan)
ब्रज नगर – झालरा पाटन
आलौर – अलवर
कान्ठल – प्रतापगढ़(Prataapgarh)
मांड – जैसलमेर(Jaisalmer)
ताम्रवती नगरी – आहड़
खिज्राबाद – चित्तोड़गढ़
भटनेर – हनुमानगढ़(Hanumangadh)
गोपालमाल – करौली(Karauli)
जयनगर – जयपुर(Jaipur)
श्रीमाल – भीनमाल(BheenMal)
रामनगर – गंगानगर(GangaNagar)

 

 rajasthan gk online test, rajasthan gk in hindi current, rajasthan gk in hindi book, rajasthan gk download, rajasthan gk audio, rajasthan gk hindi, rajasthan gk in hindi online test, rajasthan gk notes in hindi, rajasthan gk in hindi current, raj gk in hindi objective, raj gk history, rajasthan gk 2017 in hindi, rajasthan gk in hindi pdf, rajasthan gk questions with answers in hindi free download, raj gk in hindi objective, rajasthan gk in hindi question, rajasthan gk in hindi audio, rajasthan general knowledge in hindi, rajasthan gk in hindi current,  rajasthan gk jaipur, rajasthan, rajasthan gk in hindi book.

 

Comments

comments

Leave a Comment