मेरा प्रिय पशु कुत्ता-Essay On MY Dog-हिन्दी निबंध - Essay in Hindi | Hindigk50k

मेरा प्रिय पशु कुत्ता-Essay On MY Dog-हिन्दी निबंध – Essay in Hindi

मेरा प्रिय पशु कुत्ता-Essay On MY Dog-हिन्दी निबंध – Essay in Hindi  Here we are providing you this essay in hindi हिन्दी निबंध  which will help in hindi essays for class 4, hindi essays for class 10,  hindi essays for class 9,  hindi essays for class 7, hindi essays for class 6, hindi essays for class 8.

कुत्ता चार पैर वाला जानवर है . यह एक पालतू पशु है . इसके गुणों की कहानी अनमोल है . यह रीढ़दार हिंसक प्राणी है .
आकार :
कुत्ता
इसके चार पैर , दो आँखें , एक मुँह , दो कान एवं एक नाक होता है . इसकी एक लम्बी पूँछ होती है . कुत्ते
अधिकतर काले रंग के होते हैं . इसके अलावा कुछ सफ़ेद कुछ मिश्रित रंग के होते हैं . इनका शरीर रोयें से भरा रहता है .
भोजन :
यह माँसाहारी पशु है . इसके साथ ही साथ यह शाकाहारी भोजन भी बड़े चाव से खाता है . यह दूध बड़े ही चाव से पीता है .

 

स्वभाव:
कुत्ता का स्वभाव बड़ा ही सरल होता है . इसकी बुद्धि बड़ी ही तेज़ होती है . इसके अन्दर सूँघने की तीव्र शक्ति होती है . आजकल कुत्ते सूँघकर अपराधियों को पकड़ने में सहायक हो रहे हैं . घरों की रखवाली ये बड़े ही मुस्तैदी के साथ करते हैं .
प्राप्तिस्थान : 
पृथ्वी के प्रायः सभी देशों में कुत्ते पाए जाते हैं . भारत के अलावा इंग्लैंड, स्पेन ,फ़्रांस ,इटली ,रूस , अमरीका आदि देशों में विभिन्न आकार एवं जाती के कुत्ते पाए जाते हैं .
उपसंहार :
कुत्ता मनुष्य का सेवक है . किन्तु आज कुत्ते की स्थिति बड़ी दुखद है . हमारे देश में विदेशी कुत्तों को ठीक से रखा जाता है ,परन्तु स्वदेशी कुत्ते लावारिश होकर भटकते रहते हैं . अतः इनकी देखभाल करना हमारा धर्म है . हमारे देश के कुत्तों को संभाल कर रखा जाए तो ये भी विदेशी कुत्तों से अधिक लाभदायक हो सकते हैं .

Comments

comments

Leave a Comment