कल करे सो आज कर Do not Delay Your Work Hindi Kahani Story | Hindigk50k

कल करे सो आज कर Do not Delay Your Work Hindi Kahani Story

कल करे सो आज कर Do not Delay Your Work Hindi Kahani Story 100+ hindi story kahaniyan short bal kahani in hindi, baccho ki kahani suno, dadi maa ki kahaniyan, bal kahaniyan, cinderella ki kahani, hindi panchatantra stories, baccho ki kahaniya aur cartoon, stories, kids story in english, moral stories, kids story books, stories for kids with pictures, short story, short stories for kids, story for kids with  moral, moral stories for childrens in hindi, infobells hindi moral stories, hindi panchatantra stories, moral stories in hindi,  story in hindi for class 1, hindi story books, story in hindi for class 4, story in hindi for class 6, panchtantra ki kahaniya.

कल करे सो आज कर Do not Delay Your Work Hindi Kahani Story

कुछ लोग ऐसे होते हैं वह ये सोचने में time waste कर देते हैं कि उनका बच्चा दो में से पहले कौन सी Book पढ़े, उतने ही Time में दूसरा बच्चा दोनों Book पढ़ चुका होता है. जॉन आर्क के Success का राज यह था कि जैसे ही question उसके समझ में आ जाता था वह उसका Solution ढूढने लग जाती थी. कोलंबस के Success का राज उसका दृढ संकल्प था.

time

चलते रहना और बढ़ते रहना ही उसके जीवन का संकल्प होना चाहिए. यह युवावस्था का ध्येय उसका आदर्श बन गया. हममें से बहुत लोग ऐसे लोगो को जानते होंगे जो अपने जीवन को बिन पतवार वाली नैया कि तरह without direction खेते जा रहे हैं. उन्हें पता नहीं कि उनकी नैया कहाँ जाकर लगेगी. अगर एक मूर्तिकार बिना किसी उद्देश्य के सिर्फ marble stone पर छेनी और हथोड़े से चोट करता जाए तो आप समझ सकते हैं कि मूर्ति का shape क्या होगा. इसी प्रकार aimless life एक जीवन को बर्बाद कर देता है.

अतः अगर आपने यह सोचा है कि चलो हम अपने aim को कल decide कर लेंगे तो नहीं कल करे सो आज कर. एक paper–pen लीजिये और आज का आज निश्चित कीजिये कि आपके जीवन का क्या aim है. हाँ एक चीज का अवश्य ध्यान रहे कि aim का decision अपनी परिस्थिति और क्षमता को ध्यान में रखकर ही लें.

 

आपको यह हिंदी कहानी कैसी लगी, अपने विचार कमेंट द्वारा दें. तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर करें
धन्यवाद!

Comments

comments

Leave a Comment